हिंदी न्यूज़ – क्या होती है चाइनामैन बॉलिंग!, what is chinaman bowling in cricket

0
27


क्या होती है चाइनामैन बॉलिंग!

कुलदीप यादव




Updated: May 16, 2018, 11:06 AM IST

जब कोई बाएं हाथ का स्पिनर अपनी कलाई से गेंद घुमाता है तो उसे ‘चाइनामैन’ बॉलिंग कहते हैं. कुलदीप यादव भारत के पहले चाइनामैन बॉलर हैं. इन दिनों आईपीएल में वो खूब चमक रहे हैं. इंटरनेशनल क्रिकेट में ‘चाइनमैन’ शब्द सबसे पहले वेस्टइंडीज के गेंदबाज एलिस अचोंग के लिए प्रयोग किया गया था, वो चीनी मूल के थे.

कुलदीप की कलाई की स्पिन इन दिनों आईपीएल में बल्लेबाजों के लिए रहस्य बनी हुई है. कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलते हुए उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के चार विकेट 20 रन देकर लिये. ये आईपीएल के इतिहास में किसी स्पिनर का बेस्ट प्रदर्शन भी है.

चाइनामैन को लेकर उत्सुकता
चाइनामैन शब्द फिर चर्चा में है. आईपीएल में कुलदीप की सफलता के बाद लोग सोशल मीडिया और ट्विटर पर लगातार चाइनामैन शब्द के बारे में ट्विट कर रहे हैं. इसे लेकर गूगल पर खासे सर्च हो रहे हैं. चाइनामैन क्या होता है इसको लेकर सवाल किये जा रहे हैं.क्या है इसकी कहानी
चाइनामैन बॉलर के बारे में जानने से हमें एक कहानी जाननी होगी. एक थे एलिस आचोंग. चीनी मूल के पहले टेस्ट क्रिकेटर. वह वेस्टइंडीज की तरफ से खेलते थे, लेकिन उनकी खासियत यह थी कि वह थे तो बायें हाथ के स्पिनर लेकिन उनकी गेंद दायें हाथ के बल्लेबाज के लिए ऑफ से लेग की तरफ टर्न होती थी. बात 1933 की है. इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड में मैच चल रहा था. एलिस आचोंग ने अपनी इसी तरह की एक गेंद पर इंग्लैंड के बल्लेबाज वाल्टर रोबिन्स को स्टंप आउट करा दिया.

ellis achong, chinaman

माना जाता है कि वेस्टइंडीज के एलिस एचोंग दुनिया के पहले चाइनामैन बॉलर थे

कहा जाता है कि जब रोबिन्स पवेलियन लौट रहे थे तो उन्होंने अंपायर से कहा, ”ब्लडी चाइनामैन ने क्या चकमा दिया.” बस तभी से इंग्लैंड में ये शब्द लोकप्रिय हो गया. धीरे धीरे क्रिकेट से जुड़ गया. बाएं हाथ से लेग स्पिन करने वाले गेंदबाजों को ‘चाइनामैन’ कहा जाने लगा.

क्यों खास होते हैं चाइनामैन बॉलर्स
वैसे दक्षिण अफ्रीका के आलराउंडर चार्ली बक लेवलिन ने दावा किया था कि सबसे पहले इस तरह की गेंदबाजी उन्होंने की थी. दुनिया ने बहुत कम चाइनामैन गेंदबाज हुए हैं. इसीलिए चाइनामैच गेंदबाज खास हो जाते हैं. चक फ्लीटवुड स्मिथ से लेकर और हाल के दिनों में पाल एडम्स, ब्रैड हाग, डेव मोहम्मद ऐसे ही गेंदबाज थे. वेस्टइंडीज के महान आलराउंडर गैरी सोबर्स भी कभी कभार ऐसी गेंदबाजी करते थे.

कुलदीप यादव, चाइनामैन, kuldeep yadav, chinaman

कुलदीप भारत के तीसरे ऐसे गेंदबाज भी हैं, जो वन-डे क्रिकेट में हैटट्रिक ले चुके हैं

कुलदीप स्वाभाविक चाइनामैन हैं
कुलदीप यादव भारत के इकलौते चाइनामैन गेंदबाज हैं. उन्‍होंने इस तरह की गेंदबाजी के लिए कोई प्रैक्‍टिस नहीं की. उन्होंने जब से गेंदबाजी करनी शुरू की, तब से स्वाभाविक तौर पर ऐसी ही बॉलिंग करते हैं. अब इस कला में माहिर हो चुके हैं. उन्होंने अपने डेब्‍यू टेस्‍ट में अपनी गेंदबाजी से आस्ट्रेलिया के दांत खट्टे कर दिये. बाद में आस्ट्रेलिया के खिलाफ ही ईडन गार्डन पर वन-डे मैच में हैटट्रिक ली. सचिन तेंदुलकर भी जब प्रैक्टिस के दौरान उनकी गेंदबाजी पर बोल्ड हो गए तो वो हक्के बक्के रह गए थे.

वो गेंदबाज, जो चाइनामैन गेंदबाजी में रहे हैं माहिर
क्रिकेट के इतिहास में इंग्लिश गेंदबाज जॉनी वार्ड्ले को ऐसा ही स्पिनर माना जाता है. वार्ड्ले ने 25 टेस्ट खेले. वो इंग्लैंड के अब तक के एकमात्र चाइनामैन गेंदबाज रहे हैं. उन्होंने कुल 102 टेस्ट विकेट लिये. ऑस्ट्रेलिया के ब्रेड हॉग सबसे सफल चाइनामैन गेंदबाजों में थे. 2003 और 2007 विश्व कप विजेता टीम के महत्वपूर्ण सदस्य थे. हॉग की गेंदबाजी को समझना बल्लेबाज के लिए काफी मुश्किल होता था. इसी तरह दक्षिण के पाल एडम्स, श्रीलंका के अजंता मेंडिस, पाकिस्तान के सुहेल तनवीर चाइनामैन बॉलर थे.

chinaman bowler

इंग्लैंड के चाइनामैन गेंदबाज जॉनी वार्डले, जो काफी सफल गेंदबाज रहे

लेकिन तब हो जाती है मुश्किल
अपने नएपन के कारण चाइनामैन बॉलर्स को शुरू में तो सफलता मिलती है लेकिन फिर जब बल्लेबाज उन्हें पढ़ने लगते हैं तो उनका जादू उतरने लगता है और उनके लिए विकेट लेना मुश्किल हो जाता है.

IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Knowledge News in Hindi यहां देखें.



Source link

Facebook Comments
SHARE